एक शोध के अनुसार, वसा आपकी आंखों को भी प्रभावित करता है। शोध से पता चला है कि वसा युक्त आहार के सेवन से आंत के बैक्टीरिया में बदलाव होता है।

उच्च वसा वाले आहार खाने से न केवल आपकी कमर या हाथ और पैर प्रभावित होंगे, बल्कि यह आपके शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित करेगा। शरीर में बढ़ती चर्बी के कारण कई अन्य बीमारियाँ भी शुरू हो जाती हैं। हाल ही में हुए एक शोध के अनुसार, वसा आपकी आंखों को भी प्रभावित करता है। शोध से पता चला है कि वसा युक्त आहार के सेवन से आंत के बैक्टीरिया में बदलाव होता है। इसके अलावा, यह गंभीर नेत्र रोग पैदा कर सकता है या आंखों की रोशनी पैदा कर सकता है, क्योंकि इसे एज रिलेटेड मैक्यूलर डीजनरेशन (एएमडी) के रूप में जाना जाता है। ईएमबीओ मॉलिक्यूलर मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित इस शोध के अनुसार, अगर एएमडी में वैट बढ़ता है, तो आपके आंतों के बैक्टीरिया कई बीमारियों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मॉन्ट्रियल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का कहना है कि हमारे शोध के अनुसार, उच्च वसा वाले आहार से शरीर में लंबे समय तक उत्तेजना होती है। आपको बता दें कि उत्तरी अमेरिका में एक करोड़ से ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। बुढ़ापे में इसका खतरा अधिक होता है। इसके अलावा, बाद में इस वजन को एएमडी में बदल दिया जाता है। दो प्रकार के एएमडी हैं, सूखा और गीला। शुष्क एएमडी के मामले में, रेटिना का केंद्र क्षतिग्रस्त होने लगता है, जबकि गीले एएमडी में रेटिना के अंदर रक्त वाहिकाएं विकसित होने लगती हैं। साथ ही, इस बीमारी का इलाज कम साबित हो रहा है और इसके प्रभाव को कम करने के लिए कोई रास्ता खोजने की जरूरत है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि आंत में बैक्टीरियल परिवर्तन पूरे शरीर के लिए बड़ी समस्या और वजन एएमडी के कारण बीमारियों के विकास के जोखिम का कारण बन सकता है।