सुबह-सुबह तुलसी के पत्ते खाने से शरीर को लाभ पहुँचता है 

इससे इम्यूनिटी नैचुरली बढ़ने लगती है और आप खुद कुछ ही दिन में इसके फायदे महसूस करने लगेंगे।

कई लोग ऐसे होते हैं, जो बार-बार बीमार पड़ जाते हैं और जल्द ही किसी भी बीमारी के शिकार हो जाते हैं। यह सब कमजोर इम्यूनिटी की वजह से होता है और बीमार होने पर डॉक्टर के चक्कर लगाने पड़ते हैं, लेकिन आप अपनी दिनचर्या में हल्का सा बदलाव करके इस दिक्कत से निजात पा सकते हैं। इसके लिए बस आपको सुबह-सुबह तुलसी के पत्ते खाने होंगे, इससे इम्यूनिटी नैचुरली बढ़ने लगती है और आप खुद कुछ ही दिन में इसके फायदे महसूस करने लगेंगे। आइए जानते हैं हर रोज तुलसी के 4-5 पत्ते खाने से क्या क्या फायदे होते हैं। बता दें कि तुलसी की पत्तियां इम्यून-मॉड्यूलेटर की तरह काम करती हैं, ये शरीर में इम्यून रिस्पॉन्स बढ़ाता है। ये न सिर्फ नुकसानदायक बैक्टीरिया और वायरस से लड़कर शरीर का बचाव करता है, बल्कि हेल्दी इम्यून सेल को बढ़ाता भी है। तुलसी के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो सेल्स को फ्री रेडिकल डैमेड से बचाते हैं। इस वजह से ये इम्यूनिटी को बढ़ाकर इंफेक्शन से बचाती हैं।
तुलसी खाने के और भी फायदे-
सर्दी में असरदार- अगर आपको सर्दी या फिर हल्का बुखार है तो मिश्री, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को पानी में अच्छी तरह से पकाकर उसका काढ़ा पीने से फायदा होता है। साथ ही तुलसी का काढ़ा या चाय में तुलसी डालकर पीने से शरीर को काफी फायदा पहुंचता है।
सर्दियों में हाथों को गर्म रखने के लिए कैसे दस्ताने पहनने चाहिए, जानिए
हर रोज एक मुट्ठी किशमिश खाने के फायदे जानकर आप भी खाना शुरू कर देंगे
सांस की बदबू दूर करने के लिए- सांस की बदबू को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं और नेचुरल होने की वजह से इसका कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होता है। अगर आपके मुंह से बदबू आ रही हो तो तुलसी के कुछ पत्तों को चबा लें।
चेहरे की चमक के लिए- तुलसी सेहत के साथ साथ आपकी स्किन के लिए भी फायदेमंद होती है। त्वचा संबंधी रोगों में तुलसी खासकर फायदेमंद है और इसके इस्तेमाल से कील-मुहांसे खत्म हो जाते हैं और चेहरा साफ होता है।
माइग्रेन के लिए भी लाभदायक- तुलसी का काढ़ा पीने से माइग्रेन और साइनस में आराम मिलता है। अगर आप पुराने सिर दर्द से परेशान हैं, तो रोज सुबह और शाम को एक चौथाई चम्मच तुलसी के पत्तों का रस, एक चम्मच शुद्ध शहद के साथ लेने से 15 दिनों में आपका दर्द पूरी तरह से ठीक हो सकता है।