चॉकलेट खाने  से आप हार्ट डिजीज से बच सकते हैं

चॉकलेट, डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर और इंसुलिन लेवल को नियंत्रित करती है।
अगर आप चॉकलेट खाने के शौकीन हैं, तो आपके लिए एक खबर है कि इसे पढ़ने के बाद आप चॉकलेट खाना बंद नहीं करेंगे, बल्कि यह आदत बनाए रखेंगे। हाल ही में हुए एक शोध से पता चला है कि चॉकलेट न केवल आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, बल्कि आपको बड़ी बीमारियों से भी बचा सकती है। अमेरिका की ब्राउन यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए इस शोध में यह बात सामने आई है कि हर दिन चॉकलेट का एक टुकड़ा खाने से आप दिल से जुड़ी बीमारियों से बच सकते हैं।
इसके अलावा, आप न केवल हृदय रोग से बच सकते हैं, बल्कि यह मधुमेह रोगियों के रक्त शर्करा और इंसुलिन के स्तर को भी कम कर सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि डार्क चॉकलेट, फ़्लेवनॉल्स का मुख्य घटक यह है कि यह दिल को स्वस्थ रखता है और बायोमार्कर के परिसंचरण में भी सुधार करता है। विश्वविद्यालय ने 1139 लोगों को चॉकलेट के कई फ्लेवर खिलाकर उनके कार्डियो मेटाबोलिक स्वास्थ्य का परीक्षण किया।
इस जांच में, उन्होंने पाया कि जो लोग प्रति दिन 200 से 600 मिलीग्राम के बीच डार्क चॉकलेट खाते हैं, वे लाभान्वित होंगे। दरअसल, यह फायदा कोको की मात्रा पर भी निर्भर करता है। प्लेन चॉकलेट सफेद और अन्य दूध चॉकलेट से बेहतर है। अमेरिका के ब्राउन यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर ग्लोबल कार्डियोमेटोबॉलिक हेल्थ के निदेशक और प्रोफेसर डॉ. सिमिन लुइस का कहना है कि हमारे किसी भी शोध को इस तरह से डिज़ाइन नहीं किया गया है
अगर दिल के दौरे और प्रकार के रूप में देखा जाए तो कोको को सीधे लिया जा सकता है। मधुमेह को कम करने में प्रभावी है या नहीं। वहीं, डॉ। सिमिन लुइस के साथ काम करने वाले स्नातक छात्र जियोचेन लिन का कहना है कि हमने पाया है कि कोको फ्लेवनॉल के सेवन से डिस्लिपिडेमिया (किण्वित शोष), इंसुलिन प्रतिरोध और प्रणालीगत सूजन को कम किया जा सकता है, जो एक कार्डियोमेटाबोलिक बीमारी है।