कमर दर्द होने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं होगा दर्द!

एक बार जब पीठ दर्द शुरू होता है, तो यह काफी कठिन होता है, जिन लोगों को पीठ दर्द होता है, वे इससे बहुत परेशान होते हैं। आपको बता दें कि पीठ दर्द कुछ गलत आदतों के कारण शुरू होता है, इसलिए अगर आपकी कमर में दर्द नहीं है तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि भविष्य में भी आप इस दर्द से दूर रह सकें। आइए जानते हैं कि वो कौन सी चीजें हैं जिन्हें ध्यान में रखकर आप कमर दर्द से दूर रह सकते हैं। बैठने का तरीका- पीठ दर्द का सबसे बड़ा कारण आपके बैठने का तरीका है। तो चाहे आप बैठने के लिए एक स्टाइलिश कुर्सी लाएं या नहीं, लेकिन आपको अपनी कमर के लिए एक आरामदायक कुर्सी अवश्य लानी चाहिए। न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी लैंग्वोन मेडिकल सेंटर के निदेशक जेफरी गोल्स्टन का कहना है कि आपको ऐसी कुर्सी पर बैठना चाहिए जिसमें आपकी कमर सी के आकार की बजाय सी के आकार में होनी चाहिए। इसके अलावा लगातार एक कुर्सी पर बैठने के बजाय थोड़ी देर टहलें।
खड़े होने का तरीका - अगर आप हमेशा अपने शरीर से पीठ दर्द को दूर रखना चाहते हैं, तो हमें हमेशा सीधे खड़े रहना चाहिए। भौतिक चिकित्सक रेली गैरीसन का कहना है कि खड़े होने के दौरान, हमें महसूस करना चाहिए कि एक रेखा हमारे बीच से गुजर रही है और हमेशा सीधी होनी चाहिए। आपके कान, कंधे और कूल्हे ऊपर की ओर होने चाहिए। शूज़ सोल - आपके जूते आपकी कमर को भी प्रभावित करते हैं, इसलिए अधिक तंग तलवों वाले जूतों के बजाय मुलायम तलवों वाले जूते पहनने चाहिए। विस्कॉन्सिन के मेडिकल कॉलेज में आर्थोपेडिक सर्जरी विभाग के उपाध्यक्ष राज राव का कहना है कि अगर आपके जूते अच्छे पैर के हैं, तो आपके पीठ दर्द का खतरा कम होगा। सिगरेट का भी होता है असर- लगभग 40 अमीर लोगों में यह बात सामने आई है कि जो लोग सिगरेट पीते हैं उन्हें पीठ में दर्द की शिकायत ज्यादा होती है, जबकि जो लोग धूम्रपान से दूर रहते हैं वे पीठ दर्द से दूर रहते हैं। डॉ। राव कहते हैं कि सिगरेट पीने से रक्त का प्रवाह कम हो जाता है और पीठ में दर्द की शिकायत होने लगती है। बहुत सारे तकिए न रखें - अगर आप भी सोते समय अपनी गर्दन के नीचे दो या तीन तकिए लगाते हैं, तो सावधान हो जाएं। क्योंकि यह आपके लिए कई बीमारियों का कारण बन सकता है। टेक्सास बैक इंस्टीट्यूट, जेसिका शीलॉक के हड्डी रोग विशेषज्ञ सर्जन का कहना है कि सोते समय गर्दन के नीचे दो या तीन तकिए लगाने से मांसपेशियों में खिंचाव होता है और पीठ में दर्द होता है।