अलसी के बीज डायबिटीज को नियंत्रित करने में मददगार होते हैं तथा ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित रहता है 

फाइबर के अलावा, अलसी के बीजों में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो वजन कम करने में मददगार होता है।
आज के समय में, तनाव और लापरवाह जीवनशैली के कारण, शरीर में रक्त शर्करा का स्तर कई गुना बढ़ जाता है। यदि रक्त शर्करा का स्तर लंबे समय तक ऊंचा रहता है, तो इससे मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है। डायबिटीज एक लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि इस बीमारी को खत्म नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसकी रोकथाम संभव है। मधुमेह वाले लोगों की प्रतिरक्षा कमजोर होती है और इसलिए उन्हें अपने स्वास्थ्य के बारे में अधिक सचेत रहने की आवश्यकता होती है। विशेषज्ञों के अनुसार, मधुमेह रोगियों का आहार ऐसा होना चाहिए जिसमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थों की अधिकता हो। 
यदि नहीं, तो खाने के बाद मरीजों का शुगर लेवल अचानक से अनियंत्रित हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, अलसी के बीजों का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं इसके फायदे -
मधुमेह के लक्षणों को कम करता है: सन बीज, जिसे अंग्रेजी में सन बीज के रूप में जाना जाता है, मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए जाना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से लड़ने की ताकत प्रदान करते हैं। यह तनाव को कम करने में भी सक्षम है।
अलसी फाइबर से भरपूर होती है: अलसी में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो भोजन को जल्दी पचने से रोकता है। इस कारण से, लोगों को भोजन के बाद रक्त शर्करा में वृद्धि की कोई शिकायत नहीं होगी। साथ ही, पाचन समस्याओं का भी पालन किया जाएगा।
थकान को दूर करता है: अलसी को ऊर्जा का एक उत्कृष्ट स्रोत माना जाता है। बता दें कि थकान मधुमेह के मुख्य लक्षणों में से एक है। इससे पीड़ित रोगियों में अत्यधिक थकान देखी जाती है। ऐसे में उनके लिए अलसी के बीज फायदेमंद होंगे।
मोटापा कम करने में मददगार: फाइबर के अलावा, सन के बीज में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो वजन कम करने में मददगार होता है। यह सूजन को कम करता है, साथ ही साथ कोई भूख नहीं। इसमें लिग्निन नामक तत्व होता है जो वजन घटाने की प्रक्रिया को आसान बनाता है।
कैसे करें सेवन: लोग अलसी को पूरी या चूर्ण के साथ खा सकते हैं, साथ ही इससे बना काढ़ा भी फायदेमंद साबित हो सकता है। इस काढ़े को बनाने के लिए दो कप पानी में 2 चम्मच अलसी के बीज मिलाएं। अब गैस को उबालें। इसे तब तक उबालें जब तक बर्तन में पानी आधा न हो जाए। गैस को बंद कर दें और इसे छानकर इसका सेवन करें।