खजूर शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करता है। इसे खाने से खांसी-जुकाम से बचाव रहता है। 

प्रत्येक मौसम के अपने फायदे और नुकसान हैं। बदलते मौसम के साथ लोगों में खानपान भी बदलता है। साल 2020 कुछ ही दिनों में खत्म होने वाला है। इस साल वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर बहुत सतर्क हो गए हैं। ऐसे में सर्दियों के मौसम में खानपान के बारे में लोगों की जागरूकता बढ़ाना जरूरी है। डॉक्टरों का मानना ​​है कि स्वस्थ रहने के लिए लोगों को स्वस्थ भी रहना चाहिए। सर्दियों में खजूर का सेवन फायदेमंद होता है। विशेषज्ञ खजूर को स्वास्थ्य लाभ के कारण सूखे मेवे के रूप में संदर्भित करते हैं। आइए जानते हैं सर्दियों में खजूर खाने के फायदे -

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है: खजूर सर्दियों का एक महत्वपूर्ण भोजन माना जाता है। यह विटामिन, खनिज, प्रोटीन फाइबर और पोटेशियम में समृद्ध है। नियमित रूप से खजूर खाने से लोगों की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। डॉक्टरों के अनुसार एक गिलास दूध में 5 से 6 खजूर, 5 काली मिर्च, 1 इलायची और एक चम्मच घी डालकर उबालें। रात को सोने से पहले इसे लेने से सर्दी-जुकाम से जल्दी छुटकारा मिलेगा।

तनाव कम होगा: कोविद -19 और लॉकडाउन के बीच भारतीयों में तनाव 74% बढ़ गया है। तनाव कम करने में खजूर सहायक है। खजूर में विटामिन बी 1, बी 2, बी 3 और बी 5 होते हैं। साथ ही, विटामिन ए 1 और सी भी पाए जाते हैं, ये सभी तत्व लोगों को तनाव मुक्त रहने में मदद करते हैं।
रक्तचाप नियंत्रित रहेगा: खजूर को पोटेशियम का एक उत्कृष्ट स्रोत माना जाता है। यह पोषक तत्व रक्तचाप को नियंत्रित करने में प्रभावी है। वहीं, मोटापे से जूझ रहे लोगों में हाई बीपी का खतरा होता है, रोजाना खजूर खाने से बढ़ते वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। यह बीपी के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

मधुमेह के खतरे को कम करता है: 2011 के एक अध्ययन के अनुसार, मधुमेह रोगियों को कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थों को महत्व देना चाहिए। खजूर का ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम है। विशेषज्ञों के अनुसार, मधुमेह के रोगी 1-3 खजूर खा सकते हैं।
कब्ज दूर होगा: फाइबर युक्त खजूर खाने से कब्ज दूर होती है। इतना ही नहीं, खजूर शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करता है। इसे खाने से आप भरा हुआ महसूस करते हैं, यह आपको ओवरईटिंग से बचाता है।