कोशीश भी कर.

कोशिश भी कर उमीद भी रख रास्ता भी चुन,
फिर इसके बाद थोड़ा सा मुक़द्दर तलाश कर।

 

बुलंद है आगर हौसला

बुलंद है अगर #हौसला तो मुट्ठी में हर मुकाम है,
मुश्किलें और मुसीबतें तो जिंदगी में आम हैं,
अगर जिंदा हो तो #ताकत रखो बाजुओं में
#लहरों के खिलाफ तैरने की,
वरना लहरों के साथ बहना तो लाशों का काम है।

साहिल पे पहुंचने से इनकार किसे है लेकिन

साहिल पे पहुंचने से इनकार किसे है लेकिन,
तूफ़ानो से लड़ने का मज़ा ही कुछ और है,
कहते है, कि किस्मत खुदा लिखता है लेकिन,
उसे मिटा के खुद गढ़ने का मजा ही कुछ और है।

First Previous Next Last Page 1 of 2